चीन का कुतुबमीनार से भी ऊंचा एयर प्यूरीफायर | चार हजार वर्ष पुरानी मिस्र की ममियों के रहस्य से उठा पर्दा |

मकर संक्रांति पर क्या कहते हैं पुराण, 7 अनजानी बातें

मकर संक्रांति पर क्या कहते हैं पुराण, 7 अनजानी बातें
सूर्य संस्कृति में मकर संक्रांति का पर्व ब्रह्मा, विष्णु, महेश, गणेश, आद्यशक्ति और सूर्य की आराधना एवं उपासना का पावन व्रत है, जो तन-मन-आत्मा को शक्ति प्रदान करता है। संत-महर्षियों के अनुसार इसके प्रभाव से प्राणी की आत्मा शुद्ध होती है। संकल्प शक्ति बढ़ती है। ज्ञान तंतु विकसित होते हैं। मकर संक्रांति इसी चेतना को विकसित करने वाला पर्व है। यह संपूर्ण भारत वर्ष में किसी न किसी रूप में आयोजित होता है। * विष्णु धर्मसूत्र में कहा गया है कि पितरों की आत्मा की शांति के लिए एवं स्व स्वास्थ्यवर्द्धन तथा सर्वकल्याण के लिए तिल के छः प्रयोग पुण्यदायक एवं फलदायक होते हैं- तिल जल से स्नान करना, तिल दान करना, तिल से बना भोजन, जल में तिल अर्पण, तिल से आहुति, तिल का उबटन लगाना। * सूर्य के उत्तरायण होने के बाद से देवों की ब्रह्म मुहूर्त उपासना का पुण्यकाल प्रारंभ हो जाता है। इस काल को ही परा-अपरा विद्या की प्राप्ति का काल कहा जाता है। इसे साधना का सिद्धिकाल भी कहा गया है। इस काल में देव प्रतिष्ठा, गृह निर्माण, यज्ञ कर्म आदि पुनीत कर्म किए जाते हैं। मकर संक्रांति के एक दिन पूर्व से ही व्रत उपवास में रहकर योग्य पात्रों को दान देना चाहिए। * रामायण काल से भारतीय संस्कृति में दैनिक सूर्य पूजा का प्रचलन चला आ रहा है। राम कथा में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम द्वारा नित्य सूर्य पूजा का उल्लेख मिलता है। * राजा भगीरथ सूर्यवंशी थे, जिन्होंने भगीरथ तप साधना के परिणामस्वरूप पापनाशिनी गंगा को पृथ्वी पर लाकर अपने पूर्वजों को मोक्ष प्रदान करवाया था। राजा भगीरथ ने अपने पूर्वजों का गंगाजल, अक्षत, तिल से श्राद्ध तर्पण किया था। तब से माघ मकर संक्रांति स्नान और मकर संक्रांति श्राद्ध तर्पण की प्रथा आज तक प्रचलित है।

कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची पर सस्पेंस बरकरार

कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची पर सस्पेंस बरकरार

मध्य प्रदेश में कांग्रेस की चुनावी तैयारियां एक बार फिर पिछड़ती नजर आ रही है. इसी क्रम में...

होशंगाबाद: कार्यकर्ता महाकुंभ में अमित शाह देंगे जीत का...

होशंगाबाद: कार्यकर्ता महाकुंभ में अमित शाह देंगे  जीत का मंत्र

भाजपा के इस कार्यकर्ता महाकुंभ में राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल, पार्टी महासचिव विनय...

कांग्रेस : टिकट को लेकर मचे घमासान को बताया अच्छा संकेत

 कांग्रेस : टिकट को लेकर मचे घमासान को बताया अच्छा संकेत

मध्यप्रदेश में 15 सालों से सत्ता से दूर कांग्रेस में अब विधानसभा टिकट को लेकर उथल-पुथल शुरू हो गई...

तिल द्वादशी पर तिल से करें श्रीहरि विष्णु का पूजन, सिद्ध...

तिल द्वादशी पर तिल से करें श्रीहरि विष्णु का पूजन, सिद्ध होंगे सभी कार्य...

धार्मिक पुराणों एवं ज्योतिष के अनुसार माघ मास की कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि को तिल द्वादशी का...

यदि आपकी कुंडली में हंस योग है तो..

यदि आपकी कुंडली में हंस योग है तो..

कुंडली की पंच योग क्या है? पंचमहापुरुष योग में से एक हंस योग होता है। पंच मतलब पांच, महा मतलब...