कोलकाता नाइट राइडर ने बंगलुरु चैलेंजर्स को चार विकेट से हराया, आरसीबी आईपीएल से बाहर | लखीमपुर खीरी कांड मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का बेटा अशीष मिश्रा गिरफ्तार | लखीमपुर खीरी पुलिस ने 12 घंटे तक की ही लगातार पूछताछ जांच में सहयोग नहीं करने पर पुलिस ने किया गिरफ्तार | पुलिस के अनुसार आरोपी आशीष मिश्रा से पुलिस ने 40 सवाल पूछे थे जिन पर कई सवालों का जवाब वह नहीं दे पाए | लगातार बदसलूकी के बाद डेविड वॉर्नर ने SRH को कहा अलविदा, जाते-जाते लिखा भावुक मैसेज | मप्र में बिजली संकट: खंडवा के पॉवर प्लांट में 2 दिन का कोयला, 50 प्लांट में 10 दिन का स्टॉक |

मकर संक्रांति पर क्या कहते हैं पुराण, 7 अनजानी बातें

मकर संक्रांति पर क्या कहते हैं पुराण, 7 अनजानी बातें
सूर्य संस्कृति में मकर संक्रांति का पर्व ब्रह्मा, विष्णु, महेश, गणेश, आद्यशक्ति और सूर्य की आराधना एवं उपासना का पावन व्रत है, जो तन-मन-आत्मा को शक्ति प्रदान करता है। संत-महर्षियों के अनुसार इसके प्रभाव से प्राणी की आत्मा शुद्ध होती है। संकल्प शक्ति बढ़ती है। ज्ञान तंतु विकसित होते हैं। मकर संक्रांति इसी चेतना को विकसित करने वाला पर्व है। यह संपूर्ण भारत वर्ष में किसी न किसी रूप में आयोजित होता है। * विष्णु धर्मसूत्र में कहा गया है कि पितरों की आत्मा की शांति के लिए एवं स्व स्वास्थ्यवर्द्धन तथा सर्वकल्याण के लिए तिल के छः प्रयोग पुण्यदायक एवं फलदायक होते हैं- तिल जल से स्नान करना, तिल दान करना, तिल से बना भोजन, जल में तिल अर्पण, तिल से आहुति, तिल का उबटन लगाना। * सूर्य के उत्तरायण होने के बाद से देवों की ब्रह्म मुहूर्त उपासना का पुण्यकाल प्रारंभ हो जाता है। इस काल को ही परा-अपरा विद्या की प्राप्ति का काल कहा जाता है। इसे साधना का सिद्धिकाल भी कहा गया है। इस काल में देव प्रतिष्ठा, गृह निर्माण, यज्ञ कर्म आदि पुनीत कर्म किए जाते हैं। मकर संक्रांति के एक दिन पूर्व से ही व्रत उपवास में रहकर योग्य पात्रों को दान देना चाहिए। * रामायण काल से भारतीय संस्कृति में दैनिक सूर्य पूजा का प्रचलन चला आ रहा है। राम कथा में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम द्वारा नित्य सूर्य पूजा का उल्लेख मिलता है। * राजा भगीरथ सूर्यवंशी थे, जिन्होंने भगीरथ तप साधना के परिणामस्वरूप पापनाशिनी गंगा को पृथ्वी पर लाकर अपने पूर्वजों को मोक्ष प्रदान करवाया था। राजा भगीरथ ने अपने पूर्वजों का गंगाजल, अक्षत, तिल से श्राद्ध तर्पण किया था। तब से माघ मकर संक्रांति स्नान और मकर संक्रांति श्राद्ध तर्पण की प्रथा आज तक प्रचलित है।

दिवाली 2021: दिवाली पर इन उपायों से करें मां लक्ष्मी को...

दिवाली 2021: दिवाली पर इन उपायों से करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, मां लक्ष्मी कर देंगी आपको मालामाल

धर्म डेस्क, एमपीदुनिया इंदौर। अगर आप चाहते हैं कि मां लक्ष्मी जी की कृपा आप पर बनी रहें और आपको...

महा शिवरात्रि के पावन पर्व पर भगवान श्री पशुपतिनाथ...

महा शिवरात्रि के पावन पर्व पर भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव के दर्शन कीजिये दिनभर

महा शिवरात्रि के पावन पर्व पर भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव के दर्शन कीजिये दिनभर

घर में शिवजी की तस्‍वीर लगाते वक्त न करें ये गलतियां, पड़...

घर में शिवजी की तस्‍वीर लगाते वक्त न करें ये गलतियां, पड़ सकती हैं भारी

एमपीदुनिया धर्म डेस्क नईदिल्ली। वास्‍तु शास्‍त्र के नियमों के अनुसार घर में भगवान के प्रतीक...

काशी काल भैरव: 5 दशक बाद बाबा भैरव विग्रह ने छोड़ा संपूर्ण...

काशी काल भैरव: 5 दशक बाद बाबा भैरव विग्रह ने छोड़ा संपूर्ण चोला, जाने क्या देता है संकेत

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ विग्रह से अलग होकर टूटा बाबा काल भैरव का कलेवर किसी बड़ी...

क्या आप जानते है स्वास्थ्य लाभ भी देती हैं चूडियां हैरान...

क्या आप जानते है स्वास्थ्य लाभ भी देती हैं चूडियां  हैरान कर देगी आपको यह जानकारी

एमपी दुनिया डेस्क, भोपाल। हमारे समाज में चूडियां पहनने का शौक हर लड़की को होता है। हमारे देश...